Ruk Jaa O Jaanewali

Ruk Jaa O Jaanewali

Song: Ruk Jaa O Jaanewali
Movie: Kanhaiya
Artist: Mukesh
Music Director: Jaikishan Dayabhai Panchal , Shankar Singh Raghuvanshi
Lyricist: Shailendra (Shankardas Kesarilal)
Actor: Raj Kapoor, Nutan, Lalita Pawar

Ruk Jaa O Jaanewali : Download

Download & Enjoy this super hit song 'Ruk Jaa O Jaanewali' from the Movie Kanhaiya 1959 starring Raj Kapoor & Nootan by Mukesh Lyricist by Shailendra (Shankardas Kesarilal) & director Jaikishan Dayabhai Panchal , Shankar Singh Raghuvanshi

पसंद आया ? अब आप जब चाहे इस गीत तो download करके सुन सकते है | आइये साथ में गाते और गुनगुनाते है Ruk Jaa O Jaanewali

Ruk Jaa O Jaanewali Download

To Download the MP3 version of ‘Ruk Jaa O Jaanewali' , click and select the ‘Save As’ option in your location to download this song.

Lyrics

ऐ सनम जिसने तुझे चाँद सी सूरत दी है
उसी मालिक ने मुझे भी तो मोहब्बत दी है
ी सनम जिसने तुझे चाँद सी सूरत दी है
उसी मालिक ने मुझे भी तो मोहब्बत दी है

फूल उठा ले तो कलाई में लचक आ जाये
तुझ हसीन को खुदा ने वो नाझाकत दी है
मैं जिसे प्यार से छू लूँ वह ही हो जाये मेरा
उसी मालिक ने मुझे भी तो मोहब्बत दी है
ऐ सनम जिसने तुझे चाँद सी सूरत दी है
उसी मालिक ने मुझे भी तो मोहब्बत दी है

मैं गुजरता ही गया तेरी हसीं राहो से
एक तेरे नाम ने क्या क्या मुझे हिम्मत दी है
मेरे दिल को भी जरा देख कहा तक हु मैं
उसी मालिक ने मुझे भी तो मोहब्बत दी है
ऐ सनम जिसने तुझे चाँद सी सूरत दी है
उसी मालिक ने मुझे भी तो मोहब्बत दी है

तू अगर चाहे तो दुनिया को नचा दे जालिम
चल दी है तुझे मलिक ने क़यामत दी है
मैं अगर चाहो तो पत्थर को बना दू पानी
उसी मालिक ने मुझे भी तो मोहब्बत दी है
ऐ सनम जिसने तुझे चाँद सी सूरत दी है
उसी मालिक ने मुझे भी तो मोहब्बत दी है
ऐ सनम जिसने तुझे चाँद सी सूरत दी है
उसी मालिक ने मुझे भी तो मोहब्बत दी है.

पसंद आया ? अब आप जब चाहे इस गीत तो download करके सुन सकते है | आइये साथ में गाते और गुनगुनाते है Ruk Jaa O Jaanewali

Ruk Jaa O Jaanewali Download

To Download the MP3 version of 'Ruk Jaa O Jaanewali', click and select the ‘Save As’ option in your location to download this song.

Lyrics

Ae sanam jisne tujhe chand si surat di hai
Usi malik ne mujhe bhi to mohabbat di hai
Ee sanam jisne tujhe chand si surat di hai
Usi malik ne mujhe bhi to mohabbat di hai

Phool utha le to kalai mein lachak aa jaye
Tujh hasina ko khuda ne wo najhakat di hai
Main jise pyar se chhu lun woh hi ho jaye mera
Usi malik ne mujhe bhi to mohabbat di hai
Ae sanam jisne tujhe chand si surat di hai
Usi malik ne mujhe bhi to mohabbat di hai

Main gujarta hi gaya teri hasin raho se
Ek tere naam ne kya kya mujhe himmat di hai
Mere dil ko bhi jara dekh kaha tak hu main
Usi malik ne mujhe bhi to mohabbat di hai
Ae sanam jisne tujhe chand si surat di hai
Usi malik ne mujhe bhi to mohabbat di hai

Tu agar chahe to duniya ko nacha de jalim
Chal di hai tujhe malik ne qayamat di hai
Main agar chahu to patthar ko bana du pani
Usi malik ne mujhe bhi to mohabbat di hai
Ae sanam jisne tujhe chand si surat di hai
Usi malik ne mujhe bhi to mohabbat di hai
Ae sanam jisne tujhe chand si surat di hai
Usi malik ne mujhe bhi to mohabbat di hai.

Old is Gold

Old is Gold

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *